Welcome to Barwala Block (Hisar)

हिसार में आज से 3 दिन तक ‘खास’ मतदान:923 बुजुर्ग व दिव्यांग घर बैठे डाल सकेंगे वोट; 20 पोलिंग पार्टियां रवाना

          

पत्नी की हत्या:गांव में ही दूसरी शादी कर रह रही थी, पहले पति ने दिया वारदात को अंजाम

          

बालक चौपटा के पास चपेट में आने से बाइक सवार की मौत

          

राजली नहर में दोस्तों के साथ नहाने गया व्यक्ति डूबा

          

12वीं में आई कंपार्टमेंट, दोस्तों से झूठ बोला-थारा भाई पास हो गया, पूरी रात पी शराब, सुबह पीजी के शौचालय में मिला शव

          

अंबाला के बस स्टैंड पर युवक की हत्या:ITI की छात्रा ने थप्पड़ मारा; पकड़ने दौड़ा तो उसके बॉयफ्रेंड ने गर्दन पर चाकू घोंपा

अंबाला सिटी में युवक की चाकू घोंप हत्या कर दी। विवाद लड़की को लेकर हुआ था। मृतक की शिनाख्त सिटी के नदी मोहल्ला निवासी जीतेंद्र कुमार (24) के रूप में हुई है। जीतेंद्र कपड़ा मार्केट में काम करता था।

परिजनों के मुताबिक,जीतेंद्र शाम करीब 5 बजे नए बस स्टैंड अंबाला सिटी पर पानी पी रहा था। इस बीच ITI की एक स्टूडेंट आई और जीतेंद्र को थप्पड़ मारा। इससे तैश में आया जीतेंद्र भी युवती को मारने के लिए दौड़ा। तभी युवती का बॉयफ्रेंड आया और सीधा गर्दन पर चाकू से वार कर दिया।

पुलिस पर आरोप लगाता जीतेंद्र का भाई।
पुलिस पर आरोप लगाता जीतेंद्र का भाई।

अस्पताल लेकर गए तो डॉक्टर ने मृत घोषित किया
आरोप है कि जीतेंद्र पर आरोपी युवक के अन्य दोस्तों ने भी हमला किया और फिर फरार हो गए। खून से लथपथ हालत में जीतेंद्र को सिविल अस्पताल अंबाला सिटी लेकर पहुंचे। यहां डॉक्टरों ने जीतेंद्र को मृत घोषित कर दिया।

सड़क जाम करने की चेतावनी
सूचना मिलने के बाद परिजन भी अस्पताल पहुंचे। यहां गुस्साए परिजनों ने खूब हंगामा किया। बढ़ते विरोध के बाद सिटी थाना प्रभारी संदीप कुमार समेत भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा। अस्पताल में परिजनों ने रात तक आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर सड़क जाम करने की चेतावनी दी है।

 

परिजनों ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप
प्रत्यक्षदर्शी अमीर ने बताया कि एक लड़की ने बिना किसी कारण जीतेंद्र को थप्पड़ मारा था। इसके बाद लड़की के बॉयफ्रेंड के साथ 20 से 25 युवकों ने जीतेंद्र के ऊपर हमला कर दिया।

परिजन बोले-पुलिस वालों ने भाई को मरवाया
जीतेंद्र के भाई मनीष ने बताया कि वह बस स्टैंड पर पहुंचा तो 3 पुलिस वालों ने उसे पकड़ लिया। चौकी नंबर-3 के इंचार्ज ने कहा कि कुछ भी हो जाए छोड़ना नहीं है। उसने पुलिस वालों को कहा था कि उसके भाई की गंभीर हालत है और डॉक्टरों ने पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया है, लेकिन पुलिस ने उसे छोड़ा नहीं। जबकि हमलावरों को फरार होने दिया।

मनीष ने पुलिस वालों के खिलाफ भी कार्रवाई करने की मांग की। वहीं मामला बढ़ता देख एएसपी दीपक कुमार, बलदेव नगर थाना प्रभारी संदीप कुमार, सीआईए की टीम भी सिविल अस्पताल पहुंची।

Spread the love