Welcome to Barwala Block (Hisar)

बेटे की कस्सी से काटकर हत्या:शराब पीने के दौरान पिता से हुआ झगड़ा, सोते हुए वार किए, शव छोड़कर भागा

          

लेडी टीचर ने छात्रा की आंख फोड़ी:गुस्से में कॉपी मारी तो खून बहने लगा; आंख धुलवाकर घर भेजा, कराहते हुए आपबीती सुनाई

          

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर धरने पर:प्रबंधन पर लगाए मनमानी वसूली के आरोप; खाने को लेकर भी उठाई आवाज

          

हिसार के खेतों से मिला 173 किलो गांजा:एक नशा तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से लाया गया; हांसी-नारनौंद में खपाया जाना था

          

सोना पहली बार ₹74 हजार के पार:चांदी ने ₹92,444 का ऑल टाइम हाई बनाया, एक ही दिन में 6 हजार रुपए बढ़ी कीमत

          

कपाल मोचन मेले में आकर्षण का केंद्र बना हरियाणवी घोड़ा, Mercedes कार से भी महंगी है कीमत

haryanvi horse becomes center of attraction in kapal mochan fair

हरियाणा के यमुनानगर में हर साल बड़े ही शानदार तरीके से कपाल मोचन मेले का आयोजन किया जाता है। हरियाणा, पंजाब समेत कई राज्यों से श्रद्धालु इस मेले में पहुंचते है।

 

PunjabKesari

बताया जा रहा है कि मेले में करीब 5 लाख श्रद्धालु पहुँच चुके है। यह मेला इसलिए भी खास बना हुआ है कि कपाल मोचन मेले में इस बार पशुओं की प्रदर्शनी भी लगाई गई है। विभिन राज्यों से पशु यहां पर आए हुए है, लेकिन हरियाणवी घोड़ा इस पुरे मेले में आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। वैसे तो बड़े ही शानदार अंदाज में एक से बढ़कर एक जानवर इस मेले में आए हैं। लेकिन लोगों की नजर हरियाणा के कुरुक्षेत्र जिले से आए हुए एक घोड़े के ऊपर जाकर टिक गई है जिसका नाम हैदर है और सिर्फ 34 महीने का है।

घोड़े के मालिक उदय सिंह विर्क ने बताया कि राजस्थान के पुष्कर में आयोजित एशिया हॉर्स शो में इस घोड़े ने पहला स्थान हासिल किया था, उसके बाद भिवानी में आयोजित हॉर्स शो में इस घोड़े ने हरियाणा चैम्पियन का खिताब भी हासिल किया, हाल ही में डीएफए में यह घोड़ा आल इंडिया चैम्पियन बना है। उन्होंने कहा कि वैसे तो यह घोड़ा अनमोल है, लेकिन पुष्कर में आयोजित प्रतियोगिता में इसकी कीमत 60 लाख रूपये लगाई गई थी।

उन्होंने कहा कि यहाँ मेले में लोग इस घोड़े को देखने के लिए आ रहे है। उन्होंने कहा कि उनके पास 8 घोड़े है, लेकिन इस मेले में सिर्फ दो घोड़ों को ही लेकर आए है। उदय सिंह विर्क ने बताया कि इस घोड़े का नाम हैदर है, यह मारवाड़ी नस्ल का है। इसकी कीमत मर्सिडीज कार से भी ज़्यादा है। यह घोड़ा पिछले दो साल से उनके साथ है और इस पर काफी खर्च होता है। इसकी देखभाल के लिए हमेशा चार लोग तैनात रहते हैं। अगर इस घोड़े को किसी मेले में ले जाते है तो उस मेले में यह घोड़ा आकर्षण का केंद्र बन जाता है क्योंकि इसकी कद काठी और बनावट बहुत ही शानदार है।

Spread the love