Welcome to Barwala Block (Hisar)

हिसार में आज से 3 दिन तक ‘खास’ मतदान:923 बुजुर्ग व दिव्यांग घर बैठे डाल सकेंगे वोट; 20 पोलिंग पार्टियां रवाना

          

पत्नी की हत्या:गांव में ही दूसरी शादी कर रह रही थी, पहले पति ने दिया वारदात को अंजाम

          

बालक चौपटा के पास चपेट में आने से बाइक सवार की मौत

          

राजली नहर में दोस्तों के साथ नहाने गया व्यक्ति डूबा

          

12वीं में आई कंपार्टमेंट, दोस्तों से झूठ बोला-थारा भाई पास हो गया, पूरी रात पी शराब, सुबह पीजी के शौचालय में मिला शव

          

दो सगी बहनों ने किया सुसाइड : फतेहाबाद में प्रिंसिपल-4 टीचरों समेत 7 पर FIR; दूसरी छात्रा का नहीं लगा अभी सुराग

फतेहाबाद में टीचरों के डर से दो बहनों ने नहर में छलांग लगा दी थी। एक का शव मिल गया हे, जबकि दूसरी की तलाश अभी जारी है। - Dainik Bhaskar
फतेहाबाद में टीचरों के डर से दो बहनों ने नहर में छलांग लगा दी थी। एक का शव मिल गया हे, जबकि दूसरी की तलाश अभी जारी है।

हरियाणा के फतेहाबाद के गांव ढांड में स्कूल के टीचरों के डर से नहर में छलांग लगाने वाली दूसरी छात्रा का अभी कोई सुराग नहीं लगा है। इस बीच दोनों लड़कियों (सगी बहनें) के पिता की शिकायत पर सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल, 4 टीचरों सहित 7 लोगों के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप में मामला दर्ज कर लिया है। एक छात्रा का शव कल सिरसा के पास से बरामद हुआ था। उसकी बहन की अभी तलाश है। छात्राओं का सुसाइड नोट भी मिला है।

चारों बच्चे पढ़ते थे सरकारी स्कूल में

गांव ढांड के अमर सिंह ने बताया कि उसके दो बेटे व दो बेटियां हैं। चारों गांव के ही सरकारी स्कूल में पढ़ते हैं। 18 अक्टूबर को वह काम पर चला गया और बच्चे स्कूल चले गए थे। शाम को वह वापस लौटा तो बेटियां घर पर नहीं थी। इसके बाद उन्होंने आसपास तलाश शुरू कर दी। शाम को उन्हें सूचना मिली कि बीघड़ हेड के पास दरांती, चप्पल व चादर पड़ी है।

छात्राओं का ये सुसाइड नोट नहर किनारे मिली उनकी चादर में लिपटा हुआ था।
छात्राओं का ये सुसाइड नोट नहर किनारे मिली उनकी चादर में लिपटा हुआ था।

नहर किनारे मिला ये सामान

वह परिवार वालों के साथ वहां पहुंचा तो देखा कि चप्पलें उसकी बेटियों की थी। इसके बाद चादर से एक सुसाइड नोट मिला। उनकी बेटियों ने लिखा था कि सिरसा के मंगालिया निवासी सज्जन सिंह व बांडा हेड़ी हिसार निवासी अशोक ने उनकी पोस्ट इंस्टाग्राम पर डाली है। पापा सज्जन को जेल करवा दो।

उन्होंने बताया कि सुसाइड नोट में स्कूल के प्रिंसिपल, अध्यापक सुभाष, देवेंद्र, अशोक, मनोज कुमारी के भी नाम लिखे गए थे। इसके बाद पुलिस ने सुसाइड नोट व शिकायत के आधार पर आईपीसी की धारा 306, 34 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

माता-पिता के साथ बुलाया था स्कूल

बता दें कि गांव ढांड की रहने वाली लड़की व उसकी छोटी बहन गांव के ही सरकारी स्कूल में पढ़ती थी। बुधवार को एक अध्यापिका ने दोनों बहनों से एक टैबलेट पकड़ा था। जांच के बाद टैबलेट प्रिंसिपल को दे दिया गया। इसके बाद दोनों बहनों काे कहा गया था कि वे गुरुवार को अपने माता-पिता को साथ लेकर ही स्कूल आएं। छात्राओं ने ये बात अपने घर पर नहीं बताई और नहर में छलांग लगा दी।

छात्राओं ने सुसाइड नोट में ये लिखा…

दोनों बहनों ने नहर में छलांग लगाने से पहले एक सुसाइड नोट भी लिखा है। इसमें उन्होंने लिखा है कि स्कूल वालों से तंग आकर हमने आत्महत्या कर ली। क्योंकि मोनिका की अमित से बात करवाई थी। हमने दोनों ने और सज्जन, अशोक ये बाडोढ़ी से हैं। इन दोनों ने हमारे दोनों की इंस्टाग्राम पर पोस्ट अपलोड कर रखी है।

हम मरने के लिए मजबूर हो गईं

पापा सज्जन की जेल करवा दें। ये हैं स्कूल के मास्टर सुभाष, देवेंद्र, अशोक, मनोज कुमारी मैम और प्रिंसिपल। पापा हम दोनों को माफ कर देना। आपकी दोनों बेटियां आत्महत्या करने के लिए मजूबर हो गईं थी।

Spread the love