Welcome to Barwala Block (Hisar)

बेटे की कस्सी से काटकर हत्या:शराब पीने के दौरान पिता से हुआ झगड़ा, सोते हुए वार किए, शव छोड़कर भागा

          

लेडी टीचर ने छात्रा की आंख फोड़ी:गुस्से में कॉपी मारी तो खून बहने लगा; आंख धुलवाकर घर भेजा, कराहते हुए आपबीती सुनाई

          

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर धरने पर:प्रबंधन पर लगाए मनमानी वसूली के आरोप; खाने को लेकर भी उठाई आवाज

          

हिसार के खेतों से मिला 173 किलो गांजा:एक नशा तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से लाया गया; हांसी-नारनौंद में खपाया जाना था

          

सोना पहली बार ₹74 हजार के पार:चांदी ने ₹92,444 का ऑल टाइम हाई बनाया, एक ही दिन में 6 हजार रुपए बढ़ी कीमत

          

बरवाला : 20 दिसंबर को मंडी बंद रख विरोध प्रदर्शन करेंगे फल व सब्जी विक्रेता

प्रदेश की फल व सब्जी मंडी व्यापारियों को हरियाणा एग्रीकलचर मार्केटिंग बोर्ड द्वारा मार्केट फीस एक मुस्त जमा करवाने को लेकर सब्जी मंडी के व्यापारियों में काफी रोष है। इसको लेकर शनिवार को व्यापारियों ने सब्जी मंडी में एक बैठक की। बैठक एसोसिएशन के प्रधान ओम प्रकाश रहेजा की अगुवाई में हुई। बैठक में सरकार द्वारा एक मुस्त फीस वो भी पचास प्रतिशत वृद्धि के साथ जमा करवाने को लेकर विरोध जताया गया।

सब्जी मंडी के व्यापारियों का कहना है कि सरकार मार्केट फीस में बढ़ोतरी की अधिसूचना वापस ले। सरकार का यह निर्णय व्यापारियों के लिये काफी परेशानियों भरा है। इस निर्णय के तहत मंडी के व्यापारियों से एक साल की लाइसेंस फीस एडवांस में मांगी जा रही है जोकि गलत है। व्यापारियों का कहना है कि जब उनके पास माल पहुंचा ही नहीं व इस बात का पता भी नहीं है कि माल पहुंचेगा या नहीं तो एडवांस में फीस किस बात की दें। एसोसिएशन के सदस्यों का कहना है कि वैसे भी मौसम की मार के चलते व्यापारी पहले से ही परेशानियों भरा जीवन जी रहा है व मार्केट फीस भरने में असमर्थ हैं।

सरकार द्वारा इस तरह का निर्णय उन पर थोपना सरासर सरकार कर हिटलरी फरमान है। सब्जी मंडी के व्यापारी सरकार के इस निर्णय का विरोध करते हैं व मांग करते हैं कि सरकार हरियाणा एग्रीकलचर मार्केटिंग बोर्ड के इस नोटिफिकेशन को निरस्त करे। वहीं सब्जी मंडी के व्यापारियों ने ऐलान किया है कि सरकार के इस निर्णय को यदि जल्द वापिस नहीं लिया जाता तो वे 20 दिसंबर को सब्जी मंडी बंद कर हड़ताल करेंगे। यदि फिर भी सरकार नहीं मानीं तो इस हड़ताल को वे अनिश्चितकालीन हड़ताल में बदलने से भी गुरेज नहीं करेंगे। उनके इस निर्णय में प्रदेश की सभी फल व सब्जी मंडियां शामिल होंगी। इस अवसर पर प्रधान ओमप्रकाश रहेजा, सुरेश ढींगड़ा, दीपक मुंजाल, जितेंद्र सरदाना, दर्शन लाल, सतबीर सैनी, राजेश सैनी, तिलक हंदूजा, काला सरदाना, नरेश गैबीपुर, सुनील सैनी, प्रेम वर्मा आदि मौजूद रहे।

Spread the love