Welcome to Barwala Block (Hisar)

हिसार में आज से 3 दिन तक ‘खास’ मतदान:923 बुजुर्ग व दिव्यांग घर बैठे डाल सकेंगे वोट; 20 पोलिंग पार्टियां रवाना

          

पत्नी की हत्या:गांव में ही दूसरी शादी कर रह रही थी, पहले पति ने दिया वारदात को अंजाम

          

बालक चौपटा के पास चपेट में आने से बाइक सवार की मौत

          

राजली नहर में दोस्तों के साथ नहाने गया व्यक्ति डूबा

          

12वीं में आई कंपार्टमेंट, दोस्तों से झूठ बोला-थारा भाई पास हो गया, पूरी रात पी शराब, सुबह पीजी के शौचालय में मिला शव

          

सरसाना गाँव में छाया मातम :कार ने बाइक को मारी टक्कर,पति-पत्नी की मौत, 4 महीने की बच्ची उछलकर मिट्‌टी में गिरकर बची

तीनों मृतकों के शवों को सिविल अस्पताल में रखवाया गया है। - Dainik Bhaskar
तीनों मृतकों के शवों को सिविल अस्पताल में रखवाया गया है।

हिसार में तेज रफ्तार कार ने बाइक को टक्कर मार दी। हादसे में दंपती और उनकी बेटी की मौत हो गई। वहीं उनकी 4 महीने की बेटी बाल-बाल बच गई। हादसा सरसाना-बालसमंद के बीच हुआ। सूचना पाकर पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और शवों को कब्जे में ले लिया। व्यक्ति बच्ची को दवाई दिलाकर घर लौट रहा था।

मृतकों की पहचान सरसाना गांव के रहने वाले सत्यवान, उसकी पत्नी रेखा और बेटी सौम्या (2) के रूप में हुई है।

सत्यवान अपनी पत्नी और दोनों बेटियों को लेकर दवाई दिलाकर लौट रहा था।
सत्यवान अपनी पत्नी और दोनों बेटियों को लेकर दवाई दिलाकर लौट रहा था।

बालसमंद अस्पताल से लौट रहा था
सत्यवान के रिश्तेदार चंद्रभान ने बताया कि सत्यवान के 2 भाई और हैं। तीनों की शादी हो चुकी है। सत्यवान मजदूरी करता था। शनिवार को वह मजदूरी करने के लिए गया था। इसी बीच वह अपनी 4 महीने की बेटी को दवाई दिलाने के लिए बालसमंद अस्पताल में चला गया। उसके साथ पत्नी रेखा और ढाई साल की सौम्या भी थी। चारों दवाई लेने के बाद घर जा रहे थे।

रास्ते में तेज रफ्तार कार ने बाइक को टक्कर मार दी। सत्यवान, सौम्या और रेखा सड़क पर जा गिरे, जबकि चार महीने की बच्ची मिट्‌टी के ढेर में गिरी जिससे उसकी जान बच गई। हादसे में सत्यवान और सौम्या की मौके पर ही मौत हो गई। राहगीरों ने घायल रेखा को निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। बताया गया है कि कार ड्राइवर गोरछी गांव का रहने वाला है।

घटना के बाद अस्पताल में पहुंचे मृतकों के परिजन और गांववाले।
घटना के बाद अस्पताल में पहुंचे मृतकों के परिजन और गांववाले।

बेटा गया हुआ था स्कूल
सत्यवान का बेटा सौरव सरकारी स्कूल में पढ़ता है। शनिवार को वह स्कूल में गया हुआ था। इसके चलते वह अपने पिता के साथ बाइक पर नहीं गया।

Spread the love