Welcome to Barwala Block (Hisar)

हिसार में आज से 3 दिन तक ‘खास’ मतदान:923 बुजुर्ग व दिव्यांग घर बैठे डाल सकेंगे वोट; 20 पोलिंग पार्टियां रवाना

          

पत्नी की हत्या:गांव में ही दूसरी शादी कर रह रही थी, पहले पति ने दिया वारदात को अंजाम

          

बालक चौपटा के पास चपेट में आने से बाइक सवार की मौत

          

राजली नहर में दोस्तों के साथ नहाने गया व्यक्ति डूबा

          

12वीं में आई कंपार्टमेंट, दोस्तों से झूठ बोला-थारा भाई पास हो गया, पूरी रात पी शराब, सुबह पीजी के शौचालय में मिला शव

          

हरियाणा में बेटी की घुड़चढ़ी:दुल्हन को घोड़ी पर बैठाकर बनवारा निकाला; परिजन DJ पर झूमते साथ चले

घोड़ी पर बैठी स्नेहा। उसने कहा कि उसके परिवार वालों की विचारधारा अलग है। - Dainik Bhaskar
घोड़ी पर बैठी स्नेहा। उसने कहा कि उसके परिवार वालों की विचारधारा अलग है।

गढ़ी मोहल्ला निवासी संजीव शर्मा की बेटी स्नेहा की शादी सिरसा के उमेश शर्मा के साथ तय हुई है। उमेश रविवार को बारात लेकर पहुंचेगा। इससे पहले शनिवार रात को स्नेहा के परिवार ने बनवारा निकाला। स्नेहा घोड़ी पर बैठी और परिवार वाले DJ की धुन पर नाचते गाते चले।

 

आसपास के लोग लड़की को घोड़ी पर बैठा देख हैरान रह गए। आमतौर पर शादी में लड़कों का ही बनवारा निकला जाता है। लड़की का बनवारा निकलना लोगों के लिए अनोखी बात है।

लड़की के बनवारा के दौरान नाच रहे परिवार के सदस्य।
लड़की के बनवारा के दौरान नाच रहे परिवार के सदस्य। लड़की की लड़कों की तरह ही पूरी आवभगत की गई।

पिता बोले- बेटियां नहीं तो कुछ नहीं
स्नेहा के पिता संजीव शर्मा और मां रेणु बाला ने कहा कि इस तरह समाज की रूढ़ियों को खत्म किया जा सकता है। उन्होंने कन्या भ्रूण हत्या जैसी सोच रखने वालों को समझाने के लिए ऐसा किया। आज के समय में बेटियां बेटों से कम नहीं हैं। कुछ लोग बेटियों को बोझ समझते हैं लेकिन बेटियां बोझ नहीं, बल्कि भविष्य हैं। बेटियों के बिना कुछ नहीं है।

स्नेहा बोली- अलग विचारधारा वाला है मेरा परिवार
उधर, घोड़ी पर बैठी स्नेहा ने कहा कि परिवार ने शुरू से ही मुझे लड़कों की तरह पाला है। किसी तरह का कोई प्रतिबंध नहीं रहा। मेरा परिवार सबसे अलग विचारधारा वाला है।

स्नेहा की दादी कमलेश ने बताया कि वह बहुत खुश है, क्योंकि उनके बेटे की सोच बहुत बड़ी है। बेटे ने पहले ही कह दिया था कि वह अपनी बेटी का बनवारा निकालेगा और समाज में बेटियों के प्रति फैली बुराइयों को बदलाव का संदेश देगा।

 

 

Spread the love