Welcome to Barwala Block (Hisar)

बेटे की कस्सी से काटकर हत्या:शराब पीने के दौरान पिता से हुआ झगड़ा, सोते हुए वार किए, शव छोड़कर भागा

          

लेडी टीचर ने छात्रा की आंख फोड़ी:गुस्से में कॉपी मारी तो खून बहने लगा; आंख धुलवाकर घर भेजा, कराहते हुए आपबीती सुनाई

          

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर धरने पर:प्रबंधन पर लगाए मनमानी वसूली के आरोप; खाने को लेकर भी उठाई आवाज

          

हिसार के खेतों से मिला 173 किलो गांजा:एक नशा तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से लाया गया; हांसी-नारनौंद में खपाया जाना था

          

सोना पहली बार ₹74 हजार के पार:चांदी ने ₹92,444 का ऑल टाइम हाई बनाया, एक ही दिन में 6 हजार रुपए बढ़ी कीमत

          

हिसार की भैंस ने पंजाब में जीता ट्रैक्टर:22 लीटर दूध दिया; 3 दिवसीय पशु मेला में लिया भाग

पंजाब के धनौला में पशु मेला में सबसे अधिक दूध देकर हिसार की मुर्रा नस्ल की भैंस ने जीता ट्रैक्टर। - Dainik Bhaskar
पंजाब के धनौला में पशु मेला में सबसे अधिक दूध देकर हिसार की मुर्रा नस्ल की भैंस ने जीता ट्रैक्टर।

हरियाणा के जिला हिसार स्थित अग्रोहा खंड के गांव चिकनवास के पशुपालक की भैंस ने पंजाब के धनौला में आयोजित तीन दिवसीय पशु मेले में सबसे अधिक दूध देने का रिकॉर्ड बनाकर पहला स्थान हासिल किया और बतौर इनाम ट्रैक्टर जीता। इस उपलब्धि पर सरपंच प्रतिनिधि वकील कुमार ने टोल प्लाजा पर पशुपालक व भैंस का माला डालकर स्वागत किया और काफिले के साथ गांव लेकर पहुंचे।

जानकारी देते हुए चिकनवास निवासी पशुपालक अमित ढांडा ने बताया कि पंजाब के धनौला में तीन दिवसीय पशु मेला में वह अपनी मुर्रा नस्ल की भैंस लेकर पहुंचे। जहां हजारों की संख्या में पशुओं ने भाग लिया। इस पशु मेले में सर्वाधिक दूध निकालने की प्रतियोगिता आयोजित की गई। उनकी मुर्रा नसल की भैंस ने 22 किलो 300 ग्राम दूध देकर पहला स्थान प्राप्त किया। प्रथम स्थान प्राप्त करने पर एक फार्मट्रैक ट्रैक्टर पुरस्कार स्वरूप भेंट किया।

लांधडी चिकनवास टोल प्लाजा पर पशुपालक अमित ढांडा का स्वागत करने पहुंचे सरपंच प्रतिनिधि वकील कुमार।
लांधडी चिकनवास टोल प्लाजा पर पशुपालक अमित ढांडा का स्वागत करने पहुंचे सरपंच प्रतिनिधि वकील कुमार।

यह उपलब्धि हासिल कर अमित ढांडा की भैंस ने गांव व प्रदेश का नाम रोशन किया। सरपंच प्रतिनिधि वकील कुमार ने लांधडी चिकनवास टोल प्लाजा पर पहुंचकर पशुपालक अमित ढांडा का माला पहनाकर स्वागत किया व उन्हें काफिले के साथ गांव में लेकर आए। उन्होंने बताया कि देशों में देश हरियाणा, जहां दूध दही का खाना ऐसा यूं ही नहीं कहा जाता।

Spread the love