Welcome to Barwala Block (Hisar)

बेटे की कस्सी से काटकर हत्या:शराब पीने के दौरान पिता से हुआ झगड़ा, सोते हुए वार किए, शव छोड़कर भागा

          

लेडी टीचर ने छात्रा की आंख फोड़ी:गुस्से में कॉपी मारी तो खून बहने लगा; आंख धुलवाकर घर भेजा, कराहते हुए आपबीती सुनाई

          

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर धरने पर:प्रबंधन पर लगाए मनमानी वसूली के आरोप; खाने को लेकर भी उठाई आवाज

          

हिसार के खेतों से मिला 173 किलो गांजा:एक नशा तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से लाया गया; हांसी-नारनौंद में खपाया जाना था

          

सोना पहली बार ₹74 हजार के पार:चांदी ने ₹92,444 का ऑल टाइम हाई बनाया, एक ही दिन में 6 हजार रुपए बढ़ी कीमत

          

हिसार के नागरिक अस्पताल में व्यक्ति की मौत:पत्नी बोलीं- 3 घंटे तक नहीं हुई संभाल; चक्कर कटवाते रहे डॉक्टर, बाथरुम में मृत मिला

पति की मौत के बाद अस्पताल में बैठी शिवानी व अन्य। - Dainik Bhaskar
पति की मौत के बाद अस्पताल में बैठी शिवानी व अन्य।

 हिसार के नागरिक अस्पताल में करीब 32 वर्षीय युवक की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। उसकी पत्नी का आरोप है कि करीब 3 घंटे तक उसके पति को इलाज की कोई सुविधा नहीं दी गई। डॉक्टर व स्टाफ कभी इमरजेंसी तो कभी ओपीडी की पर्ची कटवाने के लिए ही चक्कर कटवाते रहे। इसी दौरान उसके पति की मौत हो गई। अस्पताल प्रबंधन ने मामले में जांच की बात कही है।

शिव नगर में रहने वाले जितेंद्र को परिजन बीमारी की हालत में सिविल अस्पताल लेकर पहुंचे थे। उसकी पत्नी शिवानी ने बताया कि वे मूल रूप से बिहार के रहने वाले हैं। दोनों की 7 साल पहले शादी हुई थी। शादी से दो लड़के हैं। पति मजदूरी करता था। उसके पति को उल्टी व दस्त लग रहे थे। रात को ज्यादा तबीयत बिगड़ गई। वह अपने पति को आज सुबह करीब 7 बजे ऑटो में नागरिक अस्पताल की इमरजेंसी में लाई।

पढ़े इसे भी :

भारत ने 20 साल बाद न्यूजीलैंड को वर्ल्डकप में 4 विकेट से हराया

ओपीडी खुलने का करते रहे इंतजार

शिवानी ने बताया कि डॉक्टर ने एक बुखार की गोली दी। इसके बाद इमरजेंसी से उसे ओपीडी की पर्ची कटवाने के लिए बोला गया। वे ओपीडी की पर्ची कटने का इंतजार करने लगे। करीब 8.30 बजे पर्ची कटना शुरू हुई। इसके बाद कमरा न.1 की पर्ची कटवाई, जहां करीब 20-25 मिनट में नंबर आया। इसके बाद डॉक्टर ने फिर से इमरजेंसी में भेज दिया।

बाथरुम में गिरे मिले

शिवानी ने बताया कि इमरजेंसी में जाने के बाद उसके पति के टैस्ट लिए गए। मौके पर मौजूद स्टाफ ने पति को बाथरूम करवाने के लिए कहा। वह अपने पति को लेकर बाथरूम गई। कुछ देर तक पति बाहर नही आए तो देखा कि पति बाथरूम में गिरे हुए थे। एक अन्य व्यक्ति की सहायता से इमरजेंसी में कमरे में लेकर गई। कुछ देर बाद डॉक्टर ने कहा कि आपके पति की मौत हो चुकी है।

3 घंटे तक नही हुई संभाल

महिला शिवानी का आरोप है कि पति के इलाज के लिए कभी इमरजेंसी व ओपीडी के चक्कर काटती रही। 3 घंटे तक कोई संभाल नही हुई। अगर अगर सही समय पर इलाज होता तो शायद उसके पति की मौत नही होती है। फिलहाल शव का पोस्टमार्टम नही हुआ है।

पीएमओ डा.रतना भारती से बात की गई तो उन्होंने कहा कि वह मीटिंग मे थी। अस्पताल में मौत की सूचना मिली है। इमरजेंसी वार्ड में दोपहर 12 रिपोर्ट की गई। कई बार दस्त लगने वाले मरीज को ओपीडी में भेज देते हैं। युवक की मौत के मामले में सं​बंधित डॉक्टर व अन्य कर्मचारी से जानकारी लेंगी।

पढ़े इसे भी :

उकलाना के युवक की जगह पेपर देने पहुंचा था हिसार का मुन्ना भाई; PWD में क्लर्क है आरोपी

Spread the love