Welcome to Barwala Block (Hisar)

बेटे की कस्सी से काटकर हत्या:शराब पीने के दौरान पिता से हुआ झगड़ा, सोते हुए वार किए, शव छोड़कर भागा

          

लेडी टीचर ने छात्रा की आंख फोड़ी:गुस्से में कॉपी मारी तो खून बहने लगा; आंख धुलवाकर घर भेजा, कराहते हुए आपबीती सुनाई

          

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर धरने पर:प्रबंधन पर लगाए मनमानी वसूली के आरोप; खाने को लेकर भी उठाई आवाज

          

हिसार के खेतों से मिला 173 किलो गांजा:एक नशा तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से लाया गया; हांसी-नारनौंद में खपाया जाना था

          

सोना पहली बार ₹74 हजार के पार:चांदी ने ₹92,444 का ऑल टाइम हाई बनाया, एक ही दिन में 6 हजार रुपए बढ़ी कीमत

          

हिसार में आशा वर्करों के डांस का VIDEO:CM से मांगों पर सहमति बनने पर बांटी मिठाई; जमकर नाची महिलाएं

हिसार में नाच गाने के बाद मिठाई बांट कर आशा वर्करों ने अपना धरना समाप्त किया। - Dainik Bhaskar
हिसार में नाच गाने के बाद मिठाई बांट कर आशा वर्करों ने अपना धरना समाप्त किया।

हरियाणा में आशा वर्कर्स की लंबित मांगों पर सरकार के साथ सहमति बनने पर शुक्रवार को हिसार के लघु सचिवालय में चल रहा आशा वर्करों का धरना समाप्त हो गया। हड़ताल समाप्त कर आशा वर्करों ने मिठाई बांटी और ढ़ोल की थाप पर जमकर डांस किया। आशा वर्कर्स की राज्य अध्यक्ष सुरेखा ने बताया कि सीएम के साथ 10 सूत्रीय मांगों पर चर्चा हुई। कुछ मांगों पर चर्चा नहीं हो पाई। सीएम ने कहा कि कुछ मांगे केंद्र के दायरे में आती हैं।

हिसार में डांस करते हुए आशा वर्कर।
हिसार में डांस करते हुए आशा वर्कर।

आशा वर्करों को रिटायरमेंट पर 2 लाख रुपए सरकार की तरफ से दिए जाएंगे। वहीं उनके मासिक मानदेय में भी 2100 रुपए की बढ़ोतरी की गई है। इससे पहले आशा वर्करों को 4 हजार रुपए मानदेय मिलता था। आशा वर्कर की प्रोत्साहन राशि में बढ़ोतरी करने के लिए भारत सरकार को हरियाणा सरकार पत्र लिखेगी। मीटिंग में कई मांगों पर सहमति बन गई है। आशा वर्करों ने यह भी ऐलान किया है कि उनका 30 अक्टूबर को दिल्ली कूच जारी रहेगा।

आशा वर्करों ने खुशी मनाते हुए शुक्रवार को अपना आंदोलन समाप्त किया।
आशा वर्करों ने खुशी मनाते हुए शुक्रवार को अपना आंदोलन समाप्त किया।

राज्य में 20 हजार आशा वर्कर

राज्य की करीब 20 हजार आशा वर्कर हैं जो कि सरकारी कर्मचारी का दर्जा दिए जाने समेत कई मांगे उठा रही थी। उनकी मांग थी कि 26 हजार रुपए न्यूनतम वेतन, इन्सेंटिव में 50 प्रतिशत कटौती की बहाली, EPF एवं ESI की सुविधा, रिटायरमेंट उम्र 65 साल करने और रिटायरमेंट पर सम्मान जनक पेंशन व ग्रेज्यूटी आदि मांगों को लेकर 8 अगस्त से हड़ताल पर थी। इसके कारण जच्चा-बच्चा व टीकाकरण सहित आशा वर्कर्स द्वारा किए जाने वाले अन्य काम प्रभावित हुए।

Spread the love