Welcome to Barwala Block (Hisar)

बेटे की कस्सी से काटकर हत्या:शराब पीने के दौरान पिता से हुआ झगड़ा, सोते हुए वार किए, शव छोड़कर भागा

          

लेडी टीचर ने छात्रा की आंख फोड़ी:गुस्से में कॉपी मारी तो खून बहने लगा; आंख धुलवाकर घर भेजा, कराहते हुए आपबीती सुनाई

          

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर धरने पर:प्रबंधन पर लगाए मनमानी वसूली के आरोप; खाने को लेकर भी उठाई आवाज

          

हिसार के खेतों से मिला 173 किलो गांजा:एक नशा तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से लाया गया; हांसी-नारनौंद में खपाया जाना था

          

सोना पहली बार ₹74 हजार के पार:चांदी ने ₹92,444 का ऑल टाइम हाई बनाया, एक ही दिन में 6 हजार रुपए बढ़ी कीमत

          

हिसार में आशा वर्कर्स-पुलिस में टकराव:निकाय मंत्री डॉ. कमल गुप्ता का घर घेरने पहुंची; बैरिगेट्स लगाकर 100 मीटर पहले रोका

हिसार में आशा वर्कर्स को बैरिकेड्स लगाकर रोकते पुलिस कर्मी। - Dainik Bhaskar
हिसार में आशा वर्कर्स को बैरिकेड्स लगाकर रोकते पुलिस कर्मी।

हरियाणा के हिसार स्थित मधुबन पार्क में जिले भर की आशा वर्कर्स एकत्र हुईं। जहां से प्रदर्शन करते हुए निकाय मंत्री डॉ. कमल गुप्ता के आवास पर पहुंचने का प्रयास किया, लेकिन इससे पहले ही पुलिस ने बैरिकेड्स लगाकर आशा वर्कर्स को रोक दिया। आशा वर्कर्स ने बैरिकेड्स तोड़ने का प्रयास किया।

वहीं, महिला पुलिस ने आशा वर्कर्स को रोकने के लिए काफी संघर्ष किया। मंत्री के आवास से 100 मीटर दूर ही पुलिस ने आशा वर्कर्स को रोक दिया। आशा वर्कर्स निकाय मंत्री के आवास पर 24 घंटे का पड़ाव डालने के लिए पहुंची थीं।

हिसार में निकाय मंत्री डॉ. कमल गुप्ता के घर से 100 मीटर पहले आशा वर्कर्स ने डाला 24 घंटे का पड़ाव।
हिसार में निकाय मंत्री डॉ. कमल गुप्ता के घर से 100 मीटर पहले आशा वर्कर्स ने डाला 24 घंटे का पड़ाव।

अधिकारियों ने मांगा था एक सप्ताह का समय
बता दें कि 16 अक्टूबर को आशा वर्कर यूनियन के पदाधिकारी और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने मांगों को लेकर पंचकूला में मीटिंग की थी। जिसमें मुख्यमंत्री के सचिव भी मौजूद थे। इस दौरान आशा वर्कर्स की मांगों को मुख्यमंत्री के सामने रखने का आश्वासन दिया गया था। इसके बाद अधिकारियों ने करीब एक सप्ताह का समय आशा वर्कर से मांगा था।

सीटू जिला अध्यक्ष सचिन, मनोज सोनी ने बताया कि मीटिंग में कोई ठोस आश्वासन नहीं मिलने पर आशा वर्कर्स ने 23 अक्टूबर तक हड़ताल को बढ़ा दिया था। इसी के चलते हिसार में निकाय मंत्री डॉ. कमल गुप्ता के आवास पर 24 घंटे का पड़ाव डाला गया है। उन्होंने बताया कि हिसार के साथ-साथ प्रदेश के सभी जिलों में आशा वर्कर्स मंत्रि-विधायकों के आवास पर प्रदर्शन कर रही हैं।

मागें पूरी होने तक जारी रहेगी हड़ताल
प्रदेश भर की आशा वर्कर्स 26000 वेतन करने और सरकारी कर्मचारी का दर्जा देने सहित अन्य मांगों को लेकर लगातार 8 अगस्त से हड़ताल पर हैं। पूरे प्रदेश में करीब 20000 आशा वर्कर्स और हिसार में 1600 आशा वर्कर्स हड़ताल पर हैं। आशा वर्कर्स का कहना है कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होती उनकी हड़ताल जारी रहेगी।

Spread the love