Welcome to Barwala Block (Hisar)

हिसार में आज से 3 दिन तक ‘खास’ मतदान:923 बुजुर्ग व दिव्यांग घर बैठे डाल सकेंगे वोट; 20 पोलिंग पार्टियां रवाना

          

पत्नी की हत्या:गांव में ही दूसरी शादी कर रह रही थी, पहले पति ने दिया वारदात को अंजाम

          

बालक चौपटा के पास चपेट में आने से बाइक सवार की मौत

          

राजली नहर में दोस्तों के साथ नहाने गया व्यक्ति डूबा

          

12वीं में आई कंपार्टमेंट, दोस्तों से झूठ बोला-थारा भाई पास हो गया, पूरी रात पी शराब, सुबह पीजी के शौचालय में मिला शव

          

हिसार में टीचर की मौत पर अस्पताल के बाहर हंगामा:आरोपी स्टूडेंट की गिरफ्तारी के लिए धरना, क्लास में रॉड से किया था हमला

हिसार में जिंदल अस्पताल के बाहर धरने पर बैठे परिजनाें को समझाते पुलिस कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
हिसार में जिंदल अस्पताल के बाहर धरने पर बैठे परिजनाें को समझाते पुलिस कर्मचारी।

हिसार में हमले में घायल हुए नलवा आईटीआई के फिटर टीचर की गुरुवार को 34 दिन बाद अस्पताल में मौत हो गई। इससे गुस्साए परिजनों ने जिंदल अस्पताल के बाहर हंगामा कर दिया। आरोपी की गिरफ्तारी की मांग को लेकर टीचर के परिजन अस्पताल के गेट पर धरना देकर बैठ गए।

पुलिस टीम ने मौके पर पहुंच कर उन्हें शांत किरवाया। अब टीचर के शव को हिसार के नागरिक अस्पताल लाया गया। वहां पोस्टमार्टम की कार्रवाई की जा रही है। पुलिस अब इस मामले में हत्या की कार्रवाई कर रही है।

11 अक्टूबर को किया था हमला
भिवानी की फ्रेंन्ड्स कॉलोनी निवासी खजान सिंह ने बताया कि उसका बेटा विपिन यादव नलवा में आईटीआई में फिटर टीचर के पद पर कार्यरत था। वह 11 अक्टूबर को कक्षा में छात्रों को प्रैक्टिकल करवा रहा था। इस दौरान ढाणी माहू निवासी छात्र सिद्धांत ने प्रैक्टिकल रूम में रखी लोहे की रॉड उठा कर विपिन के सिर में मार दी।

ICU में भर्ती था विपिन
छात्र ने विपिन पर ताबड़तोड़ वार किए थे। इससे वह गंभीर घायल हो गया था। इसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया। विपिन करीब 34 दिन से जिंदल अस्पताल के आईसीयू में भर्ती था। गुरुवार शाम को उसकी मौत हो गई।

टीचर की मौत के बाद हंगामा
परिवार के लोग व गांव के कई लोग हिसार के जिंदल अस्पताल पहुंचे। वहां पर आरोपी की गिरफ्तारी की मांग को लेकर हंगामा किया। परिजन अस्पताल के गेट पर धरना देकर बैठ गए। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर उन्हें हत्या का मामला दर्ज कर जल्द ही आरोपी गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया। जिसके बाद परिजन शांत हुए।

Spread the love