Welcome to Barwala Block (Hisar)

बेटे की कस्सी से काटकर हत्या:शराब पीने के दौरान पिता से हुआ झगड़ा, सोते हुए वार किए, शव छोड़कर भागा

          

लेडी टीचर ने छात्रा की आंख फोड़ी:गुस्से में कॉपी मारी तो खून बहने लगा; आंख धुलवाकर घर भेजा, कराहते हुए आपबीती सुनाई

          

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर धरने पर:प्रबंधन पर लगाए मनमानी वसूली के आरोप; खाने को लेकर भी उठाई आवाज

          

हिसार के खेतों से मिला 173 किलो गांजा:एक नशा तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से लाया गया; हांसी-नारनौंद में खपाया जाना था

          

सोना पहली बार ₹74 हजार के पार:चांदी ने ₹92,444 का ऑल टाइम हाई बनाया, एक ही दिन में 6 हजार रुपए बढ़ी कीमत

          

हिसार में ITI छात्राओं के प्रिंसिपल-चपरासी पर आरोप:बोलीं- गाली गलौज की; प्रिंसिपल ने कहा- फेक इंस्टाग्राम आईडी बनाकर रील्स अपलोड करने से रोका

हांसी लघु सचिवालय में प्रिंसिपल हटाने की मांग को लेकर नारेबाजी करती ITI की छात्राएं। - Dainik Bhaskar
हांसी लघु सचिवालय में प्रिंसिपल हटाने की मांग को लेकर नारेबाजी करती ITI की छात्राएं।

हिसार के हांसी में गर्ल्स ITI की छात्राओं ने प्रिंसिपल और चपरासी पर दुर्व्यवहार और गाली गलौज करने के आरोप लगाए हैं। गुरुवार को छात्राओं ने लघु सचिवालय पहुंचकर प्रदर्शन किया। वहीं, प्रिंसिपल का कहना है कि छात्राओं ने गर्ल्स ITI स्टाफ के नाम से इंस्टाग्राम आईडी बनाई हुई है। जिस पर वह रील्स अपलोड करती हैं। उन्होंने छात्राओं को ऐसा करने से रोका था, जिसके बाद उन्होंने विरोध करना शुरू कर दिया।

छात्राओं ने बताया कि प्रिंसिपल मोनिका और चपरासी के द्वारा उनके साथ गलत व्यवहार किया जाता है। वह उनके साथ गाली गलौज करती हैं। प्रिंसिपल को हटाने की मांग को लेकर तहसीलदार संदीप शर्मा को ज्ञापन सौंपा है।

लघु सचिवालय में प्रिंसिपल के खिलाफ नारेबाजी करतीं छात्राएं।
लघु सचिवालय में प्रिंसिपल के खिलाफ नारेबाजी करतीं छात्राएं।

प्रिंसिपल बोलीं- फोन चलाने से रोका था
इस मामले में ITI की प्रिंसिपल मोनिका ने कहा कि क्लास रूम में छात्राएं फोन का इस्तेमाल करती हैं और रील्स बनाकर इंस्टा पर अपलोड करती है। इन्होंने गर्ल्स ITI स्टाफ के नाम से एक आईडी भी बनाई हुई है। जिस पर सभी छात्राएं रील्स अपलोड करती हैं। जिससे उनकी ITI का नाम खराब होता हैं। उन्होंने छात्राओं को क्लास में फोन न चलाने के लिए कहा था और और रील्स बनाने के लिए रोका था। जिसके बाद छात्राओं ने उनका विरोध शुरू कर दिया। इससे पहले भी प्रिंसिपल पर SCST एक्ट का केस दर्ज हुआ था। जांच के बाद वह खारिज हो गया था।

Spread the love