Welcome to Barwala Block (Hisar)

बेटे की कस्सी से काटकर हत्या:शराब पीने के दौरान पिता से हुआ झगड़ा, सोते हुए वार किए, शव छोड़कर भागा

          

लेडी टीचर ने छात्रा की आंख फोड़ी:गुस्से में कॉपी मारी तो खून बहने लगा; आंख धुलवाकर घर भेजा, कराहते हुए आपबीती सुनाई

          

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर धरने पर:प्रबंधन पर लगाए मनमानी वसूली के आरोप; खाने को लेकर भी उठाई आवाज

          

हिसार के खेतों से मिला 173 किलो गांजा:एक नशा तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से लाया गया; हांसी-नारनौंद में खपाया जाना था

          

सोना पहली बार ₹74 हजार के पार:चांदी ने ₹92,444 का ऑल टाइम हाई बनाया, एक ही दिन में 6 हजार रुपए बढ़ी कीमत

          

हरियाणा में स्कूल कमेटियों को मिलेगी टीचर नियुक्ति की पावर:राजकीय विद्यालयों में बढ़ेंगे इनके अधिकार; स्टूडेंट्स-टीचर्स रेशो के लिए लाएंगे MIS सिस्टम

हरियाणा सीएम मनोहर लाल। - Dainik Bhaskar

हरियाण में शिक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए सरकार ने अपने स्तर पर प्रयास शुरू कर दिए हैं। सरकार स्कूलों में शिक्षकों की कमी को पूरा करने के लिए राजकीय स्कूलों की मैनेजमेंट कमेटियों के अधिकार बढ़ाने पर विचार कर रही है। कमेटियों को यह अधिकार दिया जाएगा कि वह 2 से 6 महीने के लिए स्कूलों में टीचर्स की नियुक्ति कर सकें।

इसके साथ ही स्कूलों में स्टूडेंट्स और टीचर्स के बीच रेशो को दुरुस्त करने के लिए सरकार एमआईएस सिस्टम को लागू करने की तैयारी कर रही है। सरकारी स्कूलों की मैनेजमेंट कमेटियों के साथ मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने संवाद करते हुए इसका खुलासा किया है।

14 हजार स्कूलों में हैं कमेटियां

हरियाणा में कुल 14 हजार स्कूल हैं। इन स्कूलों की देखरेख के लिए मैनेजमेंट कमेटियों का सरकार के द्वारा गठन किया गया है। इन कमेटियों में चुने हुए जनप्रतिनिधियों के साथ अभिभावकों को जिम्मेदारी दी गई है। जिन स्कूलों में स्टूडेंट्स की संख्या 300 तक है उन स्कूलों की कमेटियों में 12 सदस्यों को शामिल किया गया है। 500 संख्या वालों में 16 और 500 संख्या से अधिक वाले स्कूलों में कमेटियों के सदस्यों की संख्या 20 निर्धारित की गई है।

कमेटियों की ये है जिम्मेदारी

सरकारी स्कूलों में बनाई गई मैनेजमेंट कमेटियों की सरकार की ओर से जिम्मेदारी तय की गई हैं। कमेटियां स्कूलों में शिक्षकों के साथ ही स्टूडेंट्स की उपस्थिति की निगरानी करती हैं। इसके साथ ही स्कूलों में होने वाले निर्माण कार्यों और अभिभावकों के साथ मीटिंग करने की जिम्मेदारी दी गई है। कमेटियां यह भी तय करती हैं कि क्षेत्र के हर बच्चे को स्कूल में दाखिला मिल सके और सरकार की ओर से दिए जाने वाले सभी लाभ भी प्राप्त कर सके।

MIS सिस्टम से सुधरेगी व्यवस्था

सीएम ने यह भी खुलासा किया है कि सरकारी स्कूलों में स्टूडेंट्स और टीचर्स के रेशो को सुनिश्चित करने के लिए सरकार जल्द ही MIS सिस्टम लागू करने जा रही है। इसके तहत स्कूल में कितने बच्चे हैं और कितने टीचरों की आवश्यकता है उसके हिसाब से व्यवस्था की जाएगी। सीएम ने कहा कि हरियाणा में 20 से 22 लाख स्टूडेंट सरकारी स्कूलों में शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं।

Spread the love