Welcome to Barwala Block (Hisar)

बेटे की कस्सी से काटकर हत्या:शराब पीने के दौरान पिता से हुआ झगड़ा, सोते हुए वार किए, शव छोड़कर भागा

          

लेडी टीचर ने छात्रा की आंख फोड़ी:गुस्से में कॉपी मारी तो खून बहने लगा; आंख धुलवाकर घर भेजा, कराहते हुए आपबीती सुनाई

          

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर धरने पर:प्रबंधन पर लगाए मनमानी वसूली के आरोप; खाने को लेकर भी उठाई आवाज

          

हिसार के खेतों से मिला 173 किलो गांजा:एक नशा तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से लाया गया; हांसी-नारनौंद में खपाया जाना था

          

सोना पहली बार ₹74 हजार के पार:चांदी ने ₹92,444 का ऑल टाइम हाई बनाया, एक ही दिन में 6 हजार रुपए बढ़ी कीमत

          

हिसार की बेटी बनी सब इंस्पेक्टर:पुलिस में दूसरी नौकरी मिली; हरियाणा दुर्गा शक्ति में हो चुकी भर्ती

हरियाणा के हिसार के गांव लुदास की बेटी सरिता काजल उत्तर प्रदेश पुलिस में सब ​इंस्पेक्टर बन गई है। सरिता की ट्रेनिंग पूरी हो चुकी है और तीन दिन पहले ही उसकी पासिंग आउट परेड हुई है। ट्रेनिंग के बाद वह गांव में पहुंची है। परिवार और ग्रामीणों में बेटी का सफलता को देख खुशी का माहौल है।

पासिंग आउट के दोरान पिता को सैल्यूट करते हुए सरीता। - Dainik Bhaskar
पासिंग आउट के दोरान पिता को सैल्यूट करते हुए सरीता।

​सरिता के पिता बीरसिंह ने बताया कि बेटी के चयन पर गांव में खुशी का माहौल है। बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। उन्होंने बताया कि इससे पहले सरिता का चयन हरियाणा में दुर्गा शक्ति में हुआ था। इसमें छह माह तक ट्रेनिंग करने के बाद उसका उत्तर प्रदेश पुलिस में सब इंस्पेक्टर पद पर चयन हो गया।

भाई को सैल्यूट करते हुए सरीता।
भाई को सैल्यूट करते हुए सरीता।

सरिता को ऐसे मिली दूसरी नौकरी

पिता बीरसिंह ने बताया कि सरिता में शुरू से ही देश सेवा का जज्बा था और इसी के चलते उसे आर्मी, एयरफोर्स या पुलिस जैसी बेल्ट की नौकरी पसंद थी। सरिता ने बीएससी नॉन मेडिकल व बीएड किया हुआ है। यही नहीं, सरिता एनसीसी में बी सी सर्टिफिकेट है। उसकी तैयारी लगातार जारी है और उसका प्रयास है कि वह और उंचे पद पर जाए।

सरिता के भाई संदीप ने बताया कि उसके पिता जी हरियाणा कृषि विश्व​विद्यालय से सेवानिवृत हैं। सरिता की ट्रेनिंग पूरी हो चुकी है। उसके ट्रेनिंग पूरी करके पहली बार गांव व घर आने पर पूरे गांव में खुशी का माहौल है। गांव में उन्हें बधाई देने वालों का तांता लगा है। संदीप ने बताया माता-पिता के संस्कार व अध्यापकों कड़ी मेहनत की वजह से आज सरिता को यह मुकाम हासिल हुआ है।

Spread the love