Welcome to Barwala Block (Hisar)

बेटे की कस्सी से काटकर हत्या:शराब पीने के दौरान पिता से हुआ झगड़ा, सोते हुए वार किए, शव छोड़कर भागा

          

लेडी टीचर ने छात्रा की आंख फोड़ी:गुस्से में कॉपी मारी तो खून बहने लगा; आंख धुलवाकर घर भेजा, कराहते हुए आपबीती सुनाई

          

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर धरने पर:प्रबंधन पर लगाए मनमानी वसूली के आरोप; खाने को लेकर भी उठाई आवाज

          

हिसार के खेतों से मिला 173 किलो गांजा:एक नशा तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से लाया गया; हांसी-नारनौंद में खपाया जाना था

          

सोना पहली बार ₹74 हजार के पार:चांदी ने ₹92,444 का ऑल टाइम हाई बनाया, एक ही दिन में 6 हजार रुपए बढ़ी कीमत

          

फतेहाबाद में डीसी ने सरपंच को किया निलंबित:जाली शैक्षिणिक कागजातों पर लड़ा था चुनाव; पुलिस कर चुकी केस दर्ज

हरियाणा के फतेहाबाद में फर्जी डिग्री लगाकर सरपंच बनने पर गांव लांबा के सरपंच गुरदेव को डीसी ने सस्पेंड कर दिया है। पंचायत विभाग के खंड अधिकारी से कहा गया है कि सरपंच के पास जितने भी सरकारी दस्तावेज हैं, वो अपने पास लें ले। सरपंच के खिलाफ पहले ही रतिया पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया था।

गांव लांबा से शिकायतकर्ता जितेंद्र सिंह ने 7 दिसंबर 2022 को शिकायत दी थी। शिकायत में आरोप था कि सरपंच गुरदेव ने दसवीं की फर्जी प्रमाण पत्र लगाया है। जिसकी जांच की जाए। यह जांच पिछले डेढ़ साल से चल रही थी। इससे पहले रतिया पुलिस ने 9 मई 2023 को विभिन्न धारा के तहत मामला भी दर्ज कर लिया था।

परंतु शिकायतकर्ता जितेन्द्र सिंह ने 28 अगस्त 2023 को उपायुक्त के सम्मुख प्रस्तुत किए गए शिकायत पत्र की जांच अतिरिक्त उपायुक्त, फतेहाबाद से करवाई गई। उक्त शिकायत की जांच जिला शिक्षा अधिकारी, फतेहाबाद व योजना अधिकारी, फतेहाबाद से करवाई गई है। उक्त शिकायत के संबंध में सभी दस्तावेजों का अध्ययन किया गया।

सरपंच गुरदेव सिंह द्वारा दसवीं की परीक्षा उत्तरप्रदेश राज्य मुक्त विद्यालय परिषद प्रयागराज से की गई है। जिस बारे हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड भिवानी से रिपोर्ट ली गई। रिपोर्ट अनुसार उत्तर प्रदेश राज्य मुक्त विद्यालय परिषद प्रयागराज द्वारा संचालित कोई भी परीक्षा हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड भिवानी द्वारा संचालित किसी भी परीक्षा के समकक्ष मान्यता प्राप्त नहीं है और ना ही समकक्षता सूची में शामिल है। ऐसे में यह डिग्री फर्जी मिली।

Spread the love