Welcome to Barwala Block (Hisar)

बेटे की कस्सी से काटकर हत्या:शराब पीने के दौरान पिता से हुआ झगड़ा, सोते हुए वार किए, शव छोड़कर भागा

          

लेडी टीचर ने छात्रा की आंख फोड़ी:गुस्से में कॉपी मारी तो खून बहने लगा; आंख धुलवाकर घर भेजा, कराहते हुए आपबीती सुनाई

          

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर धरने पर:प्रबंधन पर लगाए मनमानी वसूली के आरोप; खाने को लेकर भी उठाई आवाज

          

हिसार के खेतों से मिला 173 किलो गांजा:एक नशा तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से लाया गया; हांसी-नारनौंद में खपाया जाना था

          

सोना पहली बार ₹74 हजार के पार:चांदी ने ₹92,444 का ऑल टाइम हाई बनाया, एक ही दिन में 6 हजार रुपए बढ़ी कीमत

          

मोटा मुनाफा कमाने के चक्कर में इंस्टाल की एप, 4.5 लाख रुपये की चपत लगते एप खुद हुआ Delete

fraud app got closed as soon as rs 4 5 lakh was defrauded

शेयर मार्केट में पैसा लगाकर मोटा मुनाफा कमाने के चक्कर में इंस्टाल की गई एप ने 4.5 लाख रुपये जमा होने के बाद काम करना बंद कर दिया। ठगी का पता चलने के बाद पीड़ित ने साउथ रेंज साइबर थाना पुलिस को शिकायत दर्ज कराई है।

रेवाड़ी: शेयर मार्केट में पैसा लगाकर मोटा मुनाफा कमाने के चक्कर में इंस्टाल की गई एप ने 4.5 लाख रुपये जमा होने के बाद काम करना बंद कर दिया। ठगी का पता चलने के बाद पीड़ित ने साउथ रेंज साइबर थाना पुलिस को शिकायत दर्ज कराई है।

पुलिस को दर्ज शिकायत में बीएमजी एलीगेंट सिटी में रहने वाले ललित कुमार ने बताया कि उसने सोशल मीडिया पर शेयर मार्केट में पैसा लगाकर मोटा मुनाफा कमाने का विज्ञापन देखा था। विज्ञापन के नीचे एक लिंक दिया हुआ था, जिस पर क्लिक करने के बाद वह एक व्हाट्सएप ग्रुप  से जुड़ गया। ग्रुप  से जुड़े लोगों के साथ उसकी चेटिंग होने लगी। शेयर मार्केट में पैसा लगाने की बात कहने के बाद उसके पास एक लिंक आया, जिस पर क्लिक करने के बाद एप डाउनलोड हो गई। उसका पैन व आधार कार्ड नंबर ले लिया गया। इसके बाद वह एप के जरिए पैसे इन्वेस्ट करता रहा। 6 बार में 4.5 लाख रुपये इन्वेंस्ट करने के बाद उसका प्रोफिट 36752 रुपये दिखाया गया।

उसने प्रोफिट निकलाने के लिए रिक्वेस्ट डाली, तो व्हाट्सएप  ग्रुप पर सर्वर डाउन होने की बात कहते हुए 1 लाख रुपये और जमा कराने को कहा। इसके बाद उसने पैसे जमा नहीं कराए। जब वह ग्रुप  पर पैसे वापस करने के मैसेज भेजने लगा, तो उसके मोबाइल फोन से एप खुद डिलीट हो गई। पुलिस ने उसकी शिकायत पर केस दर्ज करने के बाद उन खातों का पता लगाने के प्रयास शुरू कर दिए, जिनमें उसकी रकम ट्रांसफर हुई है।

 

Spread the love