Welcome to Barwala Block (Hisar)

बेटे की कस्सी से काटकर हत्या:शराब पीने के दौरान पिता से हुआ झगड़ा, सोते हुए वार किए, शव छोड़कर भागा

          

लेडी टीचर ने छात्रा की आंख फोड़ी:गुस्से में कॉपी मारी तो खून बहने लगा; आंख धुलवाकर घर भेजा, कराहते हुए आपबीती सुनाई

          

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर धरने पर:प्रबंधन पर लगाए मनमानी वसूली के आरोप; खाने को लेकर भी उठाई आवाज

          

हिसार के खेतों से मिला 173 किलो गांजा:एक नशा तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से लाया गया; हांसी-नारनौंद में खपाया जाना था

          

सोना पहली बार ₹74 हजार के पार:चांदी ने ₹92,444 का ऑल टाइम हाई बनाया, एक ही दिन में 6 हजार रुपए बढ़ी कीमत

          

जींद में किसान को बेचा नकली DAP:खाद के सैंपल फेल; दुकान का लाइसेंस 21 दिन के लिए रद्द, केस दर्ज

हरियाणा के जींद के गांव बिरौली में दुकानदार ने किसान को नकली डीएपी खाद बेच दिया। खेत में डीएपी से असर नहीं होने पर इसकी शिकायत कृषि एवं किसान कल्याण विभाग को दी गई। कृषि विभाग की टीम ने यहां से खाद के जो सैंपल भरे थे, वे अब फेल आए हैं। इस पर फर्म का लाइसेंस 21 दिन के लिए सस्पेंड करके धोखाधड़ी, कापीराइट एक्ट, आवश्यक वस्तु अधिनियम समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कराया गया है।दुकान में रेड के दौरान 3 कट्‌टे खाद डीएपी मिला था। - Dainik Bhaskar

दुकान में रेड के दौरान 3 कट्‌टे खाद डीएपी मिला था।

पुलिस को दी शिकायत में कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के टीआई बालमुकुंद कौशिक ने बताया कि उन्हें खाद के निरीक्षण का विभाग की तरफ से अधिकार है। उनके पास एक जनवरी को ललित खेड़ा गांव निवासी अमित ने शिकायत दी थी कि बिरौली गांव में तिरूपति बालाजी बीज भंडार से आईपीएल कंपनी निर्मित डीएपी खाद के 60 बैग खरीद थे। इस खाद ने खेत में कोई काम नहीं किया। बाद में उसे पता चला कि यह नकली खाद था।

जांच टीम को दुकान से 3 बैग मिले थे, जिनमें से भरे सैंपल अब फेल आए हैं।
जांच टीम को दुकान से 3 बैग मिले थे, जिनमें से भरे सैंपल अब फेल आए हैं।

अमित की शिकायत पर बिरौली गांव में तिरूपति बीज भंडार पर रेड की। इस दौरान शिकायतकर्ता भी साथ था। रेड के दौरान आईपीएल निर्मित कंपनी के 3 बैग गोदाम से बरामद हुए। इस खाद का नमूना लिया गया। दुकानदार विकास से इस बारे में पूछा गया तो वह न तो कोई बिल दिखा पाया और न ही कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाया। इस पर 21 दिन के लिए दुकानदार की फर्म का लाइसेंस सस्पेंड कर दिया गया।

इसके बाद विकास ने बताया कि उसने यह खाद कैथल के पुंडरी निवासी सुभाष से खरीदा था। नूमना जांच में इसका सैंपल फेल पाया गया। इससे पता चलता है कि अमित को बेचा गया डीएपी खाद नकली है। इस मामले की शिकायत पुलिस को दी गई। साथ ही आईपीएल कंपनी से खाद की सप्लाई के बारे में पता किया गया तो कंपनी ने बताया कि नकली खाद से उनका कोई लेना देना नहीं है।

सदर थाना पुलिस ने विकास के खिलाफ धोखाधड़ी, कापीराइट एक्ट, आवश्यक वस्तु अधिनियम समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।

Spread the love