Welcome to Barwala Block (Hisar)

बेटे की कस्सी से काटकर हत्या:शराब पीने के दौरान पिता से हुआ झगड़ा, सोते हुए वार किए, शव छोड़कर भागा

          

लेडी टीचर ने छात्रा की आंख फोड़ी:गुस्से में कॉपी मारी तो खून बहने लगा; आंख धुलवाकर घर भेजा, कराहते हुए आपबीती सुनाई

          

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर धरने पर:प्रबंधन पर लगाए मनमानी वसूली के आरोप; खाने को लेकर भी उठाई आवाज

          

हिसार के खेतों से मिला 173 किलो गांजा:एक नशा तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से लाया गया; हांसी-नारनौंद में खपाया जाना था

          

सोना पहली बार ₹74 हजार के पार:चांदी ने ₹92,444 का ऑल टाइम हाई बनाया, एक ही दिन में 6 हजार रुपए बढ़ी कीमत

          

हरियाणा में अनोखी शादी: एप्लीकेशन-इंटरव्यू से चुना गया दूल्हा, DC करेंगे दुल्हन का कन्यादान

हरियाणा के रोहतक जिले में आज अनोखी शादी होने जा रही है। यहां लड़की का रोहतक के डीसी अजय कुमार कन्यादान करेंगे। वहीं बारात का स्वागत जिला प्रशासन करेगा। दूल्हा आवेदन और इंटरव्यू से चुना गया है।

PunjabKesari

वर चुनने की रही अनोखी प्रक्रिया

करिश्मा के लिए वर चुनने की प्रक्रिया बहुत अनोखी रही। महिला आश्रम प्रभारी सुषमा ने बताया कि करिश्मा की शादी के प्रयास DC अजय कुमार ने शुरू किए। उन्होंने अखबार में विज्ञापन दिया। विज्ञापन देखकर करीब 10 दिन में ही 8 से 10 आवेदन आ गए। इन युवाओं का CTM मुकुंद तंवर की अध्यक्षता वाली कमेटी ने इंटरव्यू लिया। लड़के और लड़की को आमने-सामने बैठाकर भी बात करवाई। उनमें से शॉर्टलिस्ट किए लड़कों में से करिश्मा ने ही अपनी पसंद का वर चुना। अब निक्कू से करिश्मा की शादी हो रही है। रैनकपुरा कॉलोनी निवासी निक्कू गुलिया टेलीकॉम कंपनी में सुपरवाइजर है। पिता ट्रांसपोर्टर और मां गृहिणी है।

PunjabKesari

बताया जा रहा है कि आश्रम में पली-बढ़ी करिश्मा की शादी रोहतक के रैनकपुरा के रहने वाले युवक निक्कू से हो रही है। बीते दिन मेहंदी व हल्दी की रस्म हो गई थी। अब शादी के लिए जिला प्रशासन ने बाल भवन को सजाया है। यहां पर ही इन दोनों की शादी होगी। जिला प्रशासन यहीं से कन्यादान कर करिश्मा को ससुराल विदा करेंगा। करिश्मा ने कहा कि बचपन से उसे कोई मिलने नहीं आया। जिला प्रशासन को उसका एक आधार कार्ड मिला था, जिसमें रोहतक का पता था। इसलिए वह रोहतक आ गई। यहीं रहकर 12वीं तक की पढ़ाई की।

PunjabKesari

वहीं करिश्मा का कहना है कि परिवार के रूप में उसे जिला प्रशासन मिला है। जीवनसाथी चुनने में अधिकारियों का बहुत बड़ा हाथ है। करिश्मा ने कहा कि वह 4 साल से बाल भवन में रह रही है। इससे पहले वह बाल कल्याण परिषद बहादुरगढ़ में रही। करिश्मा ने कहा कि बचपन से उसे कोई मिलने नहीं आया। जिला प्रशासन को उसका एक आधार कार्ड मिला था, जिसमें रोहतक का पता था। इसलिए वह रोहतक आ गई। यहीं रहकर 12वीं तक की पढ़ाई की।

Spread the love