Welcome to Barwala Block (Hisar)

बेटे की कस्सी से काटकर हत्या:शराब पीने के दौरान पिता से हुआ झगड़ा, सोते हुए वार किए, शव छोड़कर भागा

          

लेडी टीचर ने छात्रा की आंख फोड़ी:गुस्से में कॉपी मारी तो खून बहने लगा; आंख धुलवाकर घर भेजा, कराहते हुए आपबीती सुनाई

          

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर धरने पर:प्रबंधन पर लगाए मनमानी वसूली के आरोप; खाने को लेकर भी उठाई आवाज

          

हिसार के खेतों से मिला 173 किलो गांजा:एक नशा तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से लाया गया; हांसी-नारनौंद में खपाया जाना था

          

सोना पहली बार ₹74 हजार के पार:चांदी ने ₹92,444 का ऑल टाइम हाई बनाया, एक ही दिन में 6 हजार रुपए बढ़ी कीमत

          

हांसी के हेडमास्टर मर्डर केस में SIT को जांच:5 माह पहले स्कूल से आते हुए क्रेटा में जिंदा जले थे सुंदरलाल

 हिसार में नारनौंद क्षेत्र में गांव गढ़ी और बड़सी के बीच कार में संदिग्ध हालत में जिंदा जले हेड मास्टर सुंदरलाल के मामले में हांसी एसपी ने एक नई SIT (स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम)बनाई है। मामले में पहले भी SIT बनाई गई थी, उसकी जांच से हेड मास्टर के परिजन संतुष्ट नहीं थे। नई एसआईटी में डीएसपी नारनौंद राज सिंह की अगुआई में बास थाना प्रभारी पवित्र कुमार व सोरखी पुलिस चौकी के इंचार्ज सुरेंद्र कुमार शामिल हैं। पुलिस इसमें पहले ही हत्या का केस दर्ज कर चुकी है।

हेडमास्टर सुंदरलाल का फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
हेडमास्टर सुंदरलाल का फाइल फोटो।

पहले जानें क्या था पूरा मामला…

8 सितंबर 2023 को हेडमास्टर सुंदर लाल की क्रेटा गाड़ी में शाम करीब 4 बजे बड़सी से गढ़ी रोड पर आग लग गई थी। उस समय सुंदरलाल स्कूल से घर लौट रहे थे। बड़सी के पास कार में आग लग गई थी। पुलिस और फायर ब्रिगेड मौके पर पहुंचे और कार में लगी आग को बुझाया था। कार से एक जला हुआ कंकाल मिला था। पुलिस ने शव की पहचान के लिए डीएनए टेस्ट कराया था। अब 5 माह बाद खुलासा हुआ कि जला कंकाल सुंदरलाल का ही था।

हांसी में धू धूकर जल रही कार में हेडमास्टर जिंदा जल गए थे। फाइल फोटो।
हांसी में धू धूकर जल रही कार में हेडमास्टर जिंदा जल गए थे। फाइल फोटो।

पत्नी की शिकायत पर हुआ हत्या का केस दर्ज
पुलिस को दी शिकायत में सुंदर लाल की पत्नी कृष्णा देवी ने कहा कि 8 सितंबर को 12.35 बजे सुंदर लाल को कार सहित दुश्मनों ने जलाकर हत्या कर दी गई थी। वह गढ़ी से दुर्जनपुर स्थित स्कूल जाने के लिए घर से निकले थे। उस दिन कुछ असामान्य हुआ। वह हमेशा स्कूल के समय के बाद निकलते थे। लेकिन उस दिन स्कूल से जल्दी निकल गए थे। दुर्जनपुर और गढ़ी के बीच बड़सी में लगे एक सीसीटीवी कैमरे में कार देखी जा सकती है।

उसने बताया कि दोपहर 12:24 बजे कार को बड़सी पार करते हुए दिखी। घटना को दुर्घटना दिखाने के लिए मास्टर सुंदर लाल के शरीर को उनकी कार के साथ जलाने के लिए छोड़ दिया गया। कार में तकनीकी खराबी आती तो कोई भी ड्राइवर कार का दरवाजा खोल देता और कूद जाता।

घटना में ड्राइवर की सीट को आराम की स्थिति में पीछे धकेल दिया गया है। शरीर इस स्थिति में जला हुआ मिला। पूरे दृश्य को देखकर एक आम आदमी भी अच्छी तरह से अंदाजा लगा सकता है कि हत्या की गई है। सबूत नष्ट करने और हत्या को दुर्घटना में बदलने के लिए शव व कार को जलाया गया है।

कार से सुंदरलाल का कंकाल मिला था। डीएनए जांच में साबित हुआ कि कंकाल हेडमास्टर का ही है।
कार से सुंदरलाल का कंकाल मिला था। डीएनए जांच में साबित हुआ कि कंकाल हेडमास्टर का ही है।

गृहमंत्री ने स्टेट क्राइम ब्यूरो को सौंपी थी मामले की जांच
प्रदेश के गृह मंत्री अनिल विज ने 4 फरवरी को हेड मास्टर सुंदरलाल के परिजन प्रदेश के गृहमंत्री अनिल विज से मिलकर मामले में पुलिस द्वारा कार्यवाही नहीं होने की बात कही थी। पीड़ित परिवार को पुलिस की पिछली जांच पर भरोसा नहीं था। जिसके बाद गृहमंत्री अनिल विज ने मामले की जांच स्टेट क्राइम ब्यूरो को सौंपी थी। इससे पहले हेडमास्टर सुंदरलाल मौत प्रकरण को लेकर परिजन हांसी एसपी व आईजी से भी गुहार लगा चुके थे।

एसपी बोले- हर पहलू से जांच जारी
हांसी के एसपी मकसूद अहमद ने बताया कि हेड मास्टर सुंदरलाल की हत्या मामले की जांच एसआईटी करेगी। परिवार वालों ने जो भी सवाल उठाए हैं, उनकी हर पहलू से जांच की जा रही है। जल्द ही पूरे मामले में पर्दा फाश किया जाएगा।

Spread the love