Welcome to Barwala Block (Hisar)

बेटे की कस्सी से काटकर हत्या:शराब पीने के दौरान पिता से हुआ झगड़ा, सोते हुए वार किए, शव छोड़कर भागा

          

लेडी टीचर ने छात्रा की आंख फोड़ी:गुस्से में कॉपी मारी तो खून बहने लगा; आंख धुलवाकर घर भेजा, कराहते हुए आपबीती सुनाई

          

अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर धरने पर:प्रबंधन पर लगाए मनमानी वसूली के आरोप; खाने को लेकर भी उठाई आवाज

          

हिसार के खेतों से मिला 173 किलो गांजा:एक नशा तस्कर गिरफ्तार, ओडिशा से लाया गया; हांसी-नारनौंद में खपाया जाना था

          

सोना पहली बार ₹74 हजार के पार:चांदी ने ₹92,444 का ऑल टाइम हाई बनाया, एक ही दिन में 6 हजार रुपए बढ़ी कीमत

          

सरकारी अस्पताल में सड़ी लाश:डेडबॉडी में पड़े कीड़े; पत्नी-बच्चे अंतिम दर्शन तक नहीं कर सके, सीधे संस्कार करना पड़ा

सफीदों के अस्पताल में शव के साथ परिजन। - Dainik Bhaskar
सफीदों के अस्पताल में शव के साथ परिजन।

हरियाणा के जींद के सफीदों के नागरिक अस्पताल में शवगृह (मॉर्च्युरी) का फ्रीजर खराब होने से डेड बॉडी खराब हो गई। डेडबॉडी फटकर बदबू मारने लगी और उसमें कीड़े पड़ गए। इसका खुलासा रविवार को तब हुआ जब परिवार के लोग पोस्टमॉर्टम की कार्रवाई के लिए नागरिक अस्पताल पहुंचे। फ्रीजर खुला तो उसमे से भयंकर बदबू आई। शव को देखा तो मृतक के मुंह से कीड़े निकलते दिखे। लोगों ने इस पर रोष जताया है।

जानकारी के अनुसार गांव रत्ताखेड़ा निवासी जसमेर कई महीनों से अपने परिवार के साथ निकटवर्ती गांव खेड़ा खेमावती में रहने लगा था। उसने शनिवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए सफीदों के नागरिक अस्पताल में रखवा दिया था। शनिवार को पोस्टमॉर्टम नहीं हो पाया था। अस्पताल प्रशासन द्वारा रविवार को पोस्टमॉर्टम किए जाने की बात कहीं गई थी।

 

परिजनों ने बताया कि शव की हालत इतनी खराब है कि मृतक की पत्नी, बच्चे व परिजन भी उसके अंतिम दर्शन तक नहीं कर पाए। शव को सीधे श्मशान घाट ले जाकर उसका अंतिम संस्कार करना पड़ा।

मामले में जानकारी देते हुए परिजन।
मामले में जानकारी देते हुए परिजन।

कई जगह से खराब हो चुकी थी डेडबॉडी
रविवार सुबह काफी तादाद में ग्रामीण व परिवार के लोग शव का पोस्टमॉर्टम करवाने सफीदों के सिविल अस्पताल पहुंचे। अस्पताल प्रशासन पोस्टमॉर्टम के लिए शवगृह में पहुंचे और शव को फ्रीज से बाहर निकाला तो उसमें से भयंकर बदबू उठी और डेडबॉडी कई स्थानों से खराब हो गई थी। परिजन भी जब अंदर गए तो पाया कि डेडबॉडी कई स्थानों से फूली व खराब हुई पड़ी थी। शव में से भयंकर बदबू आ रही थी और मुंह में से कीड़े निकल रहे थे।

परिजन बोले- अस्पताल प्रशासन ने कोई जानकारी नहीं दी
परिजनों का आरोप था कि अस्पताल प्रशासन की वजह से जसमेर के शव की यह दुर्गति हुई है। अस्पताल प्रशासन ने एक बार भी उन्हें यह नहीं बताया कि अस्पताल के फ्रीजर खराब हैं। अगर अस्पताल प्रशासन पहले बता देता तो वे कोई डीप फ्रिज या बर्फ का इंतजाम करते।

एसएमअे ने कहा- ज्यादा डेडबॉडी आ गई थी
इस मामले में नागरिक अस्पताल में एसएमओ जेपी चहल का कहना है कि 4 में से 3 फ्रीजर कल ही खराब हो गए थे। केवल एक ही फ्रीजर काम कर रहा था। कल तीन डैडबॉडी आ गई थी, जिसकी वजह से ऐसा हादसा हुआ है। उन्होंने पुलिस व परिजनों को बर्फ इत्यादि लगाने के बोला था, लेकिन उन्होंने लगाई नहीं होगी।

Spread the love